Wednesday, July 24, 2024
HomeUncategorizedPAYTM SHARE PRICE: पेटीएम ने कर्मचारियों के लिए ESOP पूल विस्तार किया

PAYTM SHARE PRICE: पेटीएम ने कर्मचारियों के लिए ESOP पूल विस्तार किया

पेटीएम के शेयर में आज बढ़ोतरी, शेयर कीमत में 10 प्रतिशत तक वृद्धि

आज (8 जुलाई) BSE पर पेटीएम के शेयर में इंट्राडे ट्रेड में लगभग 10 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। वन 97 कम्युनिकेशंस, पेटीएम की माता कंपनी के शेयर्स ₹437.55 पर खुले, जो कि ₹436.60 के पिछले बंद के मुकाबले लगभग 10 प्रतिशत की उछाल थी। दिन भर में, शेयर ₹476.20 प्रति शेयर पर 9.07 प्रतिशत ऊंचा ट्रेड किया गया जबकि सेंसेक्स समय पर 0.12 प्रतिशत कम ₹79,897 पर था। इस साल जून से शेयर कीमत में गिरावट के बाद, पेटीएम के शेयर में बढ़ोतरी आई है। पिछले महीने, पेटीएम के शेयर में 11 प्रतिशत से अधिक की बढ़त हुई थी और जुलाई में अब तक 18 प्रतिशत से अधिक उच्चतम की गई है।

यह बढ़ोतरी उस समय आई जबकि पेटीएम ने अपनी लागतों को कम करने का प्रयास किया और सेल-ऑफ की स्थिति में अपनी शेयर कीमत में मजबूती देखी गई।

पेटीएम, जो वन97 कम्युनिकेशंस की संपत्ति है, ने अपने कर्मचारियों के लिए अपने कर्मचारी स्टॉक ऑप्शन प्लान (ESOP) पूल का विस्तार किया है, और 2.8 लाख स्टॉक ऑप्शन को उपलब्ध कराया है। यह कदम सामान्य रूप से प्रतिष्ठान के प्रतिष्ठान को टैलेंट को बनाए रखने के लक्ष्य से उठाया गया है।

7 जुलाई के स्टॉक एक्सचेंज फाइलिंग के अनुसार, पेटीएम ने 281,394 इक्विटी शेयर्स की स्वीकृति दी है, जिनका मुख्यम कीमत प्रति शेयर 1 रुपये है, और इन्हें पूरी तरह से भुगतान किया गया है। ये शेयर्स कर्मचारी स्टॉक ऑप्शन स्कीम 2019 और कर्मचारी स्टॉक ऑप्शन स्कीम 2008 के अंतर्गत आवंटित किए जाएंगे।

इस विकास से पेटीएम के इश्यूड, सब्स्क्राइब्ड और भुगतान किए गए इक्विटी शेयर कैपिटल को 636,274,090 रुपये (जिसमें 1 रुपये की मुख्यम कीमत वाले 636,274,090 इक्विटी शेयर्स शामिल हैं) बनाया गया है।

ESOP कार्य कैसे करता है?

कर्मचारी स्टॉक ऑप्शन स्कीम (ESOS) एक योजना है जिसमें कंपनियां कर्मचारियों को कंपनी के निर्दिष्ट मूल्य पर निश्चित संख्या में शेयर्स खरीदने का अधिकार प्रदान करती हैं, जो बाजार स्तर से नीचे होता है। यह कदम कर्मचारियों के लाभकारी होता है क्योंकि वे कंपनी के शेयर्स मालिक होते हैं, जो उनके कर्तव्य को फर्जीवाद करता है।

पेटीएम श्रमिकों के लिए ESOP पूल का विस्तार क्यों?

पेटीएम के इस कदम के पीछे की वजह यह है कि कंपनी अपने श्रमिकों को आकर्षित और संभालने के लिए प्रेरित करना चाहती है, खासकर इस समय जब रिज़र्व बैंक ऑफ इंडिया द्वारा लगाए गए विनियामकीय प्रतिबंधों के बीच कंपनी नौकरियों में कटौती का फैसला कर सकती है।

RBI के नियामक उपाय और पेटीएम की प्रतिक्रिया

इस वर्ष की शुरुआत में, RBI ने PPBL पर महत्वपूर्ण व्यापारिक प्रतिबंध लगाए थे जिसका कारण गैर-संपूर्णता समस्याएं थीं। इससे निवेशक नियामक संकट के प्रति प्रतिक्रिया दिखाते हुए पेटीएम के बाजारीकरण में काफी घाटा हुआ था। शर्मा ने इस संकट को स्वीकार किया, इसे परिपक्वता और जिम्मेदारी की एक मूल्यवान सीख के रूप में वर्णित किया। उन्होंने कहा, “हमें बेहतर समझना चाहिए था और हमारी जिम्मेदारियों को प्रभावी ढंग से पूरा करना चाहिए था।” उन्होंने और भी जोर दिया कि अब कंपनी ऐसी चुनौतियों का सामना करने के लिए बेहतर तरीके से तैयार है।

पेटीएम के हाल की स्टॉक प्रदर्शन

8 जुलाई को 2:34 बजे राष्ट्रीय शेयर बाजार (NSE) पर पेटीएम के शेयर ₹472.40 पर 8% ऊपर ट्रेड हो रहे थे। इस दौरान, पेटीएम के शेयरों में पिछले महीने 21.4% की वृद्धि दर्ज की गई है, जो इसे एक तेजी के संकेत के रूप में दिखाता है।

यह स्थिति पेटीएम के निवेशकों और बाजार विश्लेषकों के बीच एक सकारात्मक संकेत के रूप में देखी जा रही है। इस तेजी के पीछे कई कारण हो सकते हैं, जैसे कि कंपनी के वित्तीय प्रदर्शन में सुधार, बाजार में मांग का बढ़ना, और संभावना कि निवेशकों का विश्वास वापस आ रहा है।

इस समय के स्थिति को और अधिक जानकारी के लिए हमारे ब्लॉग पर पढ़ सकते हैं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments